कोरोना वायरस से बचें रहने के लिए अपनाये ये कुछ सावधानियाँ 

संक्रमण के इस दौर में कोरोना वायरस ही नहीं, सोशल मीडिया पर फैल रहे फेक न्यूज से बचना भी बहुत जरूरी है. मुश्किल के इस दौर में फेक न्यूज भी महामारी की तरह ही है जो लोगों की समस्याओं को बढ़ा देती है. इनसे बचने के लिए जरूरी है किआनेवाले हर पोस्ट को फॉरवर्ड न करें. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया है कि कोरोना से बचने के लिए क्या करें और क्या नहीं. 

सामान से नहीं आयेगा वायरस
इस बात की आशंका बहुत कम है कि किसी संक्रमित व्यक्ति के छुने  से कोई सामान भी संक्रमित हो जाये.एक से दूसरी जगह पहुंचाने के दौरान सामान कई तरह की कंडिशन और तापमान से गुजरता है. ऐसे में वायरस का खतरा बेहद कम हो जाता है. ऐसे में डरिए नहीं और बेहिचक पहले की तरह ऑनलाइन ऑर्डर कीजिए.

पालतू जानवर भी हैं प्यार के हकदार
अगर आपके पास कोई पालतू जानवर है, तो उससे दूर न भागें। इस बात का कोई सबूत नहीं है कि डॉगी या बिल्ली वायरस ला सकते हैं. अच्छी आदतें अपनाएं, जैसे कच्चा मीट,दूध छूने के बाद हाथ धोएं. डिस्पोजबल ग्लब्स पहन सकते हैं. कच्चा या अधपका एनिमल प्रॉडक्ट खाने से बचें.

गर्म पानी से नहाने से बचाव नहीं
गर्म पानी से नहाना अच्छी बात है,लेकिन गर्म पानी से नहाकर कोरोना से बचा नहीं जा सकता. 

तबियत ठीक नहीं तो करें आराम
यदि आपको बुखार,खांसी-जुकाम और सांस लेने में तकलीफ है, तो घर पर ही रहना बेहतर होगा. तुरंत डॉक्टरों से संपर्क करें.खांसते व छींकते समय कोहनी या रूमाल से मुंह और नाक-कान को ढंके। इस्तेमाल किये टिशू पेपर को तुरंत डस्टबीन में डालें. 

होम डिलिवरी सबसे है कारगर
अगर आप साग सब्जियां फल,अंडे जैसी चीजों को ऑनलाइन ऑर्डर करते हैं, तो इसे बंद मत कीजिए. भीड़ भरे मार्केट या किसी सुपरमार्केट में घुसने से बेहतर है कि आप ऑनलाइन सामान ऑर्डर कर अपने घर पर मंगवायें. फिर भी बाहर निकलना हो, तो लोगों से एक मीटर की दूरी बनाकर रखें. बाजार से आने के बाद हाथों को धोना न भूलें. 

संक्रमित इंसान से फैलता है वायरस
फिजिसियन का कहना है कि वायरस संक्रमित इंसान से फैलता है, न कि अखबार या अन्य चीजों से. संक्रमित व्यक्ति द्वारा किसी चीज को छूने पर ही वायरस के फैलने का खतरा रहता है. इसलिए अफवाह में न आएं. अगर मन में भ्रम हो तो हाथ को लगातार साबुन से धोते रहें क्योंकि हाथ पर यह वायरस चार से दस घंटे तक जिंदा रह सकता है. हाथ धोने से पहले चेहरे को छूने से बचना चाहिए. 

हर उम्र के लोगों पर है खतरा 

कोरोना वायरस हर उम्र के लोगों को बीमार कर सकता है. हालांकि, बुजुर्गों और बच्चों में मरने की संख्या ज्यादा है फिर भी डब्ल्यूएचओ की यही सलाह है कि हर उम्र के लोगों को एहतियात बरतना जरूरी है.

खुद को एक कमरे में करें कैद
• अपनी सभी गतिविधियों को एक कमरे में करें सीमित, बेहतर हो कि कमरे के साथ वॉशरूमभी अटैच्ड हो, दूसरा कोई भी इसका इस्तेमाल नहीं करे.
• हमेशा सर्जिकल मास्क पहनें, 6-8 घंटे में इसे बदलें, इस मास्क का रियूज न करें, इसे भी  संक्रमित ही समझें. मास्क अच्छी क्वालिटी  की होनी चाहिए.

एक आदमी ही करे सहायता

• अलग रह रहे व्यक्ति को घर का एक ही आदमी जरूरत की चीजें हमेशा मुहैया करायेगा, कमरे में जाते वक्त 1-3 मीटर की दूरी बनायें रखें.
• कमरे में जानेवाला  व्यक्ति हमेशा मास्क व ग्लब्स पहने रहे, संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में न आयें, ग्लव्स हटाने के बाद अच्छी तरह हाथ धोएं.

परिवार के दूसरे सदस्य क्या करें
• प्रेग्नेंट महिला, बच्चे, वृद्ध और किसी अन्य कारण से बीमार लोग कमरे से अधिक-सेअधिक दूरी बनाकर रखें, संक्रमित के संपर्क में न आयें.
• जितनी बार संभव हो सके, साबुन, हैंडवॉश या अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर से अपने हाथ साफ करें.साबुन भी हैंड सैनेटाइजर की तरह ही उपयोगी हैं.

इस्तेमाल के बाद मास्क जला दें
• डिस्पोजेबल ग्लव्स और मास्क का इस्तेमाल करें, यूज करने के बाद इसे जला दें, 
• संक्रमित के कपड़े के संपर्क में कोई भी सदस्य न आने पाये, उनके बरतन भी अलग रखे जायें.

Previous Post Next Post
X
Free Study Rankers App Download Now