>

MCQ Questions for Class 10 Hindi: Ch 3 बिहारी के दोहे स्पर्श

MCQ Questions for Class 10 Hindi: Ch 3 बिहारी के दोहे स्पर्श

1. पीले वस्त्र धारण करने के बाद श्रीकृष्ण के सौंदर्य पर कवि ने क्या कल्पना की है?
(क) मानो सरसों के पीले खेतों पर सूर्य की किरणें पड़ रही हों
(ख) मानो नीले रंग के पर्वत पर सूर्य की प्रात:कालीन पीली धूप पड़ रही हो।
(ग) मानों नीले रंग के पर्वत पर सूर्य की सायंकालीन धूप पड़ रही हो
(घ) इनमें से कोई नहीं
► (ख) मानो नीले रंग के पर्वत पर सूर्य की प्रात:कालीन पीली धूप पड़ रही हो।

2. श्रीकृष्ण ने कैसे वस्त्र पहने हुए हैं?
(क) श्रीकृष्ण पीले वस्त्र पहने हुए हैं
(ख) श्रीकृष्ण सफेद वस्त्र पहने हुए हैं
(ग) श्रीकृष्ण नीले वस्त्र पहने हुए हैं
(घ) श्रीकृष्ण काले वस्त्र पहने हुए हैं 
► (क) श्रीकृष्ण पीले वस्त्र पहने हुए हैं

3. “मनौ नील मनि-सैल पर आतप परयौ प्रभात" में कौन सा अलंकार है?
(क) अनुप्रास अलंकार
(ख) यमक अलंकार
(ग) श्लेष अलंकार
(घ) उत्प्रेक्षा अलंकार
► (घ) उत्प्रेक्षा अलंकार

4. 'दीरघ-दाघ' का अर्थ है
(क) ग्रीष्म ऋतु
(ख) प्रचंड गरमी
(ग) दीर्घ गरमी
(घ) लंबी धूम
► (ग) दीर्घ गरमी

5. किनमें परस्पर शत्रुता है?
(क) साँप और बाघ
(ख) साँप और अहि
(ग) साँप और मृग
(घ) साँप और मयूर
► (घ) साँप और मयूर

6. जंगल में हिंसक जानवर और अहिंसक जानवरों के एक साथ रहने का कारण है
(क) वैरभाव का त्याग
(ख) तपोबल का प्रभाव
(ग) भीषण गर्मी से जीवन रक्षा की चिंता
(घ) परस्पर समझौता होने का दिखावा
► (ग) भीषण गर्मी से जीवन रक्षा की चिंता

7. 'भौंहन हसैं' का अर्थ है?
(क) भवन में हँसना
(ख) बहन को देख हँसना
(ग) एक दूसरे की ओर देख आँखों में हँसना
(घ) भवन पर हँसना
► (ग) एक दूसरे की ओर देख आँखों में हँसना

8. सखियों ने श्रीकृष्ण की मुरली क्यों छुपाई?
(क) शैतानी करने के लिए
(ख) बतरस में रुचि के लिए
(ग) प्रेम जताने के लिए
(घ) बाँसुरी के लिए
► (ख) बतरस में रुचि के लिए

9. ईश्वर की प्राप्ति कब होती है?
(क) पर्वत पर तप करने से
(ख) सच्ची लगन से
(ग) मंदिर में बैठकर
(घ) खाना छोडने से
► (ख) सच्ची लगन से

10. कवि किन आडंबरों की बात कर रहा है?
(क) पर्वत पर जाकर तप करने की
(ख) पीले वस्त्र पहनने की
(ग) कीर्तन करने की
(घ) माला जपना तथा रामनाम के छाप वाले वस्त्र पहनने की
► (घ) माला जपना तथा रामनाम के छाप वाले वस्त्र पहनने की

11. नायिका को संदेश कहते हुए लज्जा क्यों आती है?
(क) किसी अन्य को अपना प्रेम संदेश कहने में नायिका को लज्जा आती है
(ख) क्योंकि प्रेम करना लज्जा का कार्य है
(ग) नायिका को अपना प्रेम संदेश भेजने में लज्जा नहीं आती
(घ) नायिका के लिए प्रेम करना एक लज्जा की बात है
► (क) किसी अन्य को अपना प्रेम संदेश कहने में नायिका को लज्जा आती है

12. संदेश कागज़ पर लिखने में क्या बाधा है?
(क) नायिका के पास कागज नहीं है
(ख) नायिका को लिखना नहीं आता
(ग) कागज पर प्रेम संदेश लिखने से सब लोग जान जाएँगे
(घ) नायिका के पास कलम नहीं है
► (ग) कागज पर प्रेम संदेश लिखने से सब लोग जान जाएँगे

13. नायिका के सामने क्या दुविधा है?
(क) नायिका अपने प्रेम संदेश को कागज पर नहीं लिख पा रही है
(ख) नायिका किसी अन्य को प्रेम संदेश कहने में संकोच करती है
(ग) वह समझ नहीं पाती कि अपना प्रेम कैसे प्रकट करें
(घ) उपरोक्त सभी
► (घ) उपरोक्त सभी

14. किसका हियौ किसके हिय की बात कह सकता है?
(क) संदेशवाहक का हृदय नायिका के हृदय की बात कह सकता है
(ख) नायिका का हृदय नायक के हृदय की बात कह सकता है
(ग) नायक का हृदय नायिका के हृदय की बात कह सकता है
(घ) इनमें से कोई नहीं
► (ग) नायक का हृदय नायिका के हृदय की बात कह सकता है

15. नायक नायिका के किस ढंग पर रीझ जाता है
(क) हँसने पर
(ख) मुस्कराने पर
(ग) मना करने पर
(घ) तीनों पर
► (घ) तीनों पर

16.  'भरे भौन' में कौन-सा अलंकार है?
(क) उपमा
(ख) रूपक
(ग) अनुप्रास
(घ) तीनों में से कोई नहीं
► (ग) अनुप्रास

17. छाया कहाँ छिप कर बैठ गई?
(क) वन में
(ख) भवन रूपी शरीर में
(ग) पानी में
(घ) तीनों में से कोई नहीं
► (ख) भवन रूपी शरीर में

18. दोहे में 'जेठ की दुपहरी' से क्या आशय है?
(क) सबसे अधिक सर्दी
(ख) सबसे अधिक घूमने वाला मौसम
(ग) सबसे खुशनुमा मौसम
(घ) सबसे ज्यादा गर्मी का मौसम
► (घ) सबसे ज्यादा गर्मी का मौसम

19. कवि ने किस प्रकार के आडंबरों की भर्त्सना नहीं की?
(क) माला जपने की
(ख) सच्चे मन से ईश्वर स्मरण की
(ग) तिलक लगाने की
(घ) भजन गाकर नाचने-गाने की
► (ख) सच्चे मन से ईश्वर स्मरण की

20. 'मन काँचे' का अर्थ है
(क) काँच जैसा मन
(ख) ज्ञानी मन
(ग) कच्चा मन
(घ) अस्थिर मन
► (घ) अस्थिर मन

21. 'द्विजराज-कुल' का क्या अर्थ है? -
(क) ब्राह्मण कुल
(ख) क्षत्रिय कुल
(ग) वैश्य कुल
(घ) कोई नहीं
► (क) ब्राह्मण कुल

22. 'मेरी हरौ कलेस' में किसकी पीड़ा हरने को कह रहे हैं?
(क) मनुष्य की
(ख) पशुओं की
(ग) संसार की
(घ) अपनी
► (घ) अपनी
Previous Post Next Post