NCERT Solutions for Class 10th: पाठ 5 - जन संघर्ष और आंदोलन लोकतान्त्रिक राजनीति

NCERT Solutions for Class 10th: पाठ 5 - जन संघर्ष और आंदोलन (Jan, Sangharsh aur Aandolan) Loktantrik Rajniti

पृष्ठ संख्या: 69

प्रश्नावली

1. दबाव समूह और आंदोलन राजनीति को किस तरह से प्रभावित करते हैं?

उत्तर

दबाव समूह और आंदोलन विभिन्न तरीकों से राजनीति पर प्रभाव डालते हैं।

• वे सूचना अभियान चलाने, बैठकें आयोजित करने, याचिकाएँ दायर करने आदि आयोजित कर लिए जनता का समर्थन और सहानुभूति हासिल करने की कोशिश करते हैं।

• हड़तालें और व्यवधानों का आयोजन कर वे सरकार से उनकी मांगों पर ध्यान आकर्षित करवाना चाहते हैं।

• वे पैरवी करके निर्णय लेने को भी प्रभावित करने की कोशिश करते हैं।

2. दबाव समूहों और राजनीतिक दलों के आपसी संबंधों का स्वरूप कैसा होता है, वर्णन करें?

उत्तर

राजनीतिक दलों और दबाव समूहों के बीच आपसी संबंध विभिन्न रूप ले सकते हैं।

• राजनेताओं और राजनीतिक दलों द्वारा अक्सर दबाव समूह बनाए जाते हैं और उसका नेतृत्व भी किया जाता है। भारत के ज्यादातर मजदूर संगठन और छात्र संघ किसी ना किसी रूप में प्रमुख राजनीतिक दल से जुड़े हुए हैं।

• कभी-कभी आंदोलन राजनीतिक दल का स्वरुप ले लेती है। DMK और AIADMK पार्टियों का गठन भी इसी तरह किया गया था।

• कई बार दबाव या आंदोलन समूहों द्वारा उठाए गए मुद्दों को राजनीतिक दलों द्वारा उठाया जाता है जिससे दलों की नीतियों में बदलाव होता है।

3. दबाव समूहों की गतिविधियाँ लोकतांत्रिक सरकार के कामकाज में कैसे उपयोगी होती हैं?

उत्तर

दबाव समूह लोकतंत्र को मजबूत करने में मदद करते हैं। जब तक सबको समान अवसर नहीं मिलेगा शासकों पर दबाव डालना लोकतंत्र में अस्वास्थ्यकर गतिविधि नहीं है। सरकारें अक्सर अमीर और शक्तिशाली लोगों के एक छोटे समूह के अनुचित दबाव में आ जाती हैं। दबाव समूह आम नागरिकों की जरूरतों और चिंताओं से सरकार को रूबरू कराते हैं और अनुचित प्रभाव का मुकाबला करने में एक उपयोगी भूमिका निभाते हैं।

4. एक दबाव समूह क्या है? कुछ उदाहरण बताइए।

उत्तर

एक दबाव समूह एक संगठन है जो विरोध और प्रदर्शनों के माध्यम से सरकारी नीतियों को प्रभावित करने का प्रयास करता है। दबाव समूह तब बनते हैं जब समान उद्देश्य वाले लोग समान उद्देश्यों के लिए साथ आते हैं। दबाव समूहों के उदाहरण फेडेकोर और बामसेफ हैं।

5. एक दबाव समूह और एक राजनीतिक दल में क्या अंतर है?

उत्तर

एक दबाव समूह एक संगठित या एक असंगठित निकाय है जो अपने हितों की रक्षा करने की कोशिश करता है। इसके लिए वे लड़ते हैं और एक सामान्य उद्देश्य को प्राप्त करने की कोशिश करते हैं। राजनीतिक दल चुनाव लड़ते हैं क्योंकि उनका उद्देश्य राजनीतिक शक्ति प्राप्त करना होता है। उनके एक से अधिक हित और उसकी अपनी-अपनी विचारधाराऐं होती है। वे विभिन्न हितों का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनका लक्ष्य को प्राप्त करने का अपना तरीका है।

6. जो संगठन विशिष्ट सामाजिक वर्ग जैसे मजदूर, कर्मचारी, शिक्षक और वकील आदि के हितों को बढ़ावा देने की गतिविधियाँ चलाते हैं उन्हें ________ कहा जाता है।

उत्तर

वर्ग विशेष हित –समूह

7. निम्न में से कौन एक विशेष विशेषता है जो एक राजनीतिक दल को एक दबाव समूह को अलग करता है -
(क) राजनीतिक दल राजनीतिक पक्ष लेते हैं, जबकि दबाव समूह राजनीतिक मसले की चिंता नहीं करते।
(ख) दबाव समूह कुछ लोगों तक ही सीमित होते हैं, जबकि राजनीतिक दल का दायरा ज्यादा लोगों तक फैला होता है|
(ग) दबाव समूह सत्ता में नहीं आना चाहते जबकि राजनीतिक दल सत्ता हासिल करना चाहते हैं।
(घ) दबाव समूह लोगों की लामबंदी नहीं करते हैं जबकि राजनीतिक दल करते हैं।

उत्तर

(ग) दबाव समूह सत्ता में नहीं आना चाहते जबकि राजनीतिक दल सत्ता हासिल करना चाहते हैं।

8. सूची I का मिलान सूची II के साथ करें और नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर चुनें:-


सूची I
सूची II
1. किसी विशेष तबके या समूह के हितों को बढ़ावा देना वाले संगठन क. आंदोलन
2. जन-सामान्य के हितों को बढ़ाने वाले संगठन ख. राजनीतिक दल
3. किसी सामाजिक समस्या के समाधान के लिए चलाया गया एक ऐसा संघर्ष जिसमें संगठनिक संरचना हो भी सकता है और नहीं भी ग. वर्ग विशेष हित –समूह
4. ऐसा संगठन जो राजनीतिक सत्ता पाने के लिए लोगों को एक जुट करता है घ. लोक कल्याणकारी हित  समूह


1 2 3 4
(क)
(ख)
(ग)
(घ)

उत्तर


1 2 3 4
(ख)

9. सूची I का मिलान सूची II के साथ करें -


सूची I
सूची II
1. दबाव समूह क. नर्मदा बचाओ आंदोलन
2. लम्बी अवधि का आंदोलन ख. असम गण परिषद
3. एक मुद्दे पर आधारित आंदोलन ग. महिला आंदोलन
4. राजनीतिक दल घ. खाद विक्रेताओं का समूह


1 2 3 4
(क)
(ख)
(ग)
(घ)

उत्तर


1 2 3 4
(क)

10. दबाव समूहों और पार्टियों के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें।
क. दबाव समूह समाज के किसी खास तबके के हितों की संगठित अभिव्यक्ति होते हैं।
ख. दबाव समूह राजनीतिक मुद्दों पर कोई न कोई पक्ष लेते हैं। 
ग. सभी दबाव समूह राजनीतिक दल होते हैं।
ऊपर दिए गए कौन से कथन सही हैं?
(क) क, ख़ और ग 
(ख़) क और ख़ 
(ग) ख़ और ग 
(घ) क और ग

उत्तर

(ख़) क और ख़ 

Notes of पाठ 5 - जन संघर्ष और आंदोलन

Watch age fraud in sports in India

GET OUR ANDROID APP

Get Offline Ncert Books, Ebooks and Videos Ask your doubts from our experts Get Ebooks for every chapter Play quiz while you study

Download our app for FREE

Study Rankers Android App Learn more

Study Rankers App Promo