NCERT Solutions for Class 9th: Ch 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं? विज्ञान

NCERT Solutions of Science in Hindi for Class 9th: Ch 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं?  विज्ञान 

प्रश्न 

पृष्ठ संख्या 15

1. शुद्ध पदार्थ से आप क्या समझते हैं?

उत्तर

एक शुद्ध पदार्थ एक ही प्रकार के कणों से मिलकर बना होता है| उस पदार्थ में मौजूद सभी कण समान रासायनिक प्रकृति के होते हैं|

2. समांगी औए विषमांगी मिश्रणों में अंतर बताइए|

उत्तर

समांगी मिश्रण
विषमांगी मिश्रण
समांगी मिश्रणों की बनावट एक समान होती है| जबकि विषमांगी मिश्रण की बनावट एक समान नहीं होती|

इनके घटकों के बीच अलग होने की कोई सीमा नहीं है| जबकि इनके घटकों के बीच अलग होने की सीमा निश्चित होती है|

पृष्ठ संख्या 20

1. उदाहरण के साथ समांगी और विषमांगी मिश्रणों में विभेद कीजिये|

उत्तर

समांगी मिश्रण ऐसे मिश्रण को कहते हैं जिसकी बनावट पूरे मिश्रण में एक समान होती है| इसके उदहारण हैं- जल में नमक, जल में चीनी, जल में कॉपर सल्फेट, अल्कोहल में आयोडीन, हवा ऐसे मिश्रण हैं जिनकी बनावट पूरे मिश्रण में एक समान होती है|

इसके विपरीत विषमांगी मिश्रणों की संरचना या बनावट पूरे मिश्रण में एक समान नहीं होती| उदहारण के लिए- सोडियम क्लोराइड और लोहे की छीलन का मिश्रण, नमक और सल्फर एवं जल और तेल विषमांगी मिश्रण के उदाहरण हैं|

2. विलयन, निलंबन और कोलाइड एक-दूसरे से किस-प्रकार भिन्न हैं?

उत्तर

विलयन
निलंबन
कोलाइड
एक समांगी मिश्रण है|
एक विषमांगी मिश्रण है|एक विषमांगी मिश्रण है|
अपने छोटे आकार के कारण विलयन के कण, गुजर रही प्रकाश की किरण को फैलाते नहीं हैं इसलिए टिनडल प्रभाव को नहीं देख सकते है|l ये निलंबित कण प्रकाश की किरण को फैला देते हैं, और इस प्रकार टिनडल प्रभाव को देखा जा सकता है| ये इतने बड़े होते हैं कि प्रकाश की किरण को फैलाते हैं और इस प्रकार टिनडल प्रभाव को देख सकते हैं| वे काफी स्थिर होते हैं|
विलयन के उदहारण हैं- जल में नमक, जल में चीनी|

निलंबन के उदहारण हैं- जल में बालू, दूषित वायु| कोलाइड के उदाहरण हैं- दूध, धुआँ|

3. एक संतृप्त विलयन बनाने के लिए 36g सोडियम क्लोराइड को 100g जल में 293K पर घोला जाता है| इस तापमान पर इसकी सांद्रता प्राप्त करें|

उत्तर

विलेय पदार्थ का द्रव्यमान (सोडियम क्लोराइड)= 36g
विलायक (जल) का द्रव्यमान= 100g
विलयन का द्रव्यमान= विलेय पदार्थ का द्रव्यमान + विलायक का द्रव्यमान
36g+100g = 136g
पृष्ठ संख्या- 26

1. पेट्रोल और मिट्टी का तेल  (kerosene oil) जो कि आपस में घुलनशील है, के मिश्रण को आप कैसे पृथक करेंगे? पेट्रोल तथा मिट्टी के तेल (kerosene oil) के क्वाथनांकों में 25⁰C अधिक का अंतराल है|

उत्तर

पेट्रोल और मिट्टी का तेल आपस में घुलनशील तरल हैं और उनके क्वाथनांको में 25⁰C अधिक होता है, इसलिए उन्हें आसवन विधि द्वारा अलग किया जा सकता है| 
*जल तथा एसीटोन के स्थान पर पेट्रोल और मिट्टी का तेल (kerosene oil) प्रयोग करेंगे|

इस विधि में पेट्रोल और मिट्टी का तेल को एक आसवन फ्लास्क में लिया जाता है| इसमें एक थर्मामीटर लगाया जाता है| एक बीकर, जल संघनक और एक बुन्सेन बर्नर भी लिया जाता है| उपकरणों को दिए गए चित्र के अनुसार व्यवस्थित किया जाता है| मिश्रण को धीरे-धीरे गर्म किया जाता है| सावधानीपूर्वक थर्मामीटर का अवलोकन किया जाता है| मिट्टी का तेल वाष्पीकृत होता है तथा संघनित होकर संघनक द्वारा बाहर निकलने पर इसे बर्तन में एकत्रित किया जाता है| पेट्रोल आसवन फ्लास्क में शेष रह जाता है|

2. पृथक करने की सामान्य विधियों के नाम दें:
(i) दही से मक्खन
(ii) समुद्री जल से नमक
(iii) नमक से कपूर

उत्तर

(i) अपकेन्द्रीकरण विधि|
(ii) वाष्पीकरण विधि|
(iii) उर्ध्वपातन प्रक्रिया|

3. क्रिस्टलीकरण विधि से किस प्रकार के मिश्रणों को पृथक किया जा सकता है?

उत्तर

क्रिस्टलीकरण विधि द्वारा क्रिस्टल के रूप में शुद्ध ठोस को विलयन से पृथक किया जाता है|

पृष्ठ संख्या 27

1. निम्न को रासायनिक और भौतिक परिवर्तनों में वर्गीकृत करें:
• पेड़ों को काटना
• मक्खन का एक बर्तन में पिघलना
• अलमारी में जंग लगना
• जल का उबालकर वाष्प बनना
• विद्युत् तरंग का जल में प्रवाहित होना तथा उसका हाइड्रोजन और ऑक्सिजन गैसों में विघटित होना
• जल में साधारण नमक का घुलना
• फलों से सलाद बनाना
• लकड़ी और कागज का जलना

उत्तर

• भौतिक परिवर्तन
• भौतिक परिवर्तन
• रासायनिक परिवर्तन
• भौतिक परिवर्तन
• रासायनिक परिवर्तन
• भौतिक परिवर्तन
• भौतिक परिवर्तन
• रासायनिक परिवर्तन

पृष्ठ संख्या 30

प्रश्न

1. निम्नलिखित को पृथक करने के लिए आप किन विधियों को अपनाएँगे?
(a) सोडियम क्लोराइड को जल के विलयन से पृथक करने में|
(b) अमोनियम क्लोराइड को सोडियम क्लोराइड तथा अमोनियम क्लोराइड के मिश्रण से पृथक करने में|
(c) धातु के छोटे टुकड़े को कार के इंजन आयल से पृथक करने में|
(d) दही से मक्खन निकलने के लिए|
(e) जल से तेल निकलने के लिए
(f) चाय से चाय की पत्तियों को पृथक करने में|
(g) बालू से लोहे के पिनों को पृथक करने में|
(h) भूसे से गेहूँ के दानों को पृथक करने में|
(i) पानी में तैरते हुए महीन मिट्टी के कण को पानी से अलग करने के लिए|
(j) पुष्प की पंखुड़ियों के निचोड़ से विभिन्न रंजकों को पृथक करने के लिए|

उत्तर

(a) वाष्पीकरण|
(b) उर्ध्वपातन|
(c) अपकेंद्रीकरण|
(d) अपकेंद्रीकरण| 
(e) पृथक्करण कीप द्वारा|
(f) निस्यंदन|
(g) चुम्बकीय पृथक्करण|
(h) फटकना|
(i) अपकेंद्रीकरण|
(j) क्रोमैटोग्राफी|

2. चाय तैयार करने के लिए आप किन-किन चरणों का प्रयोग करेंगे| विलयन, विलायक, विलेय, घुलना, घुलनशील, अघुलनशील, घुलेय (फिल्टरेट), तथा अवशेष शब्दों का प्रयोग करें|

उत्तर

सबसे पहले, एक सॉसपैन में पानी, विलायक के रूप में लिया जाता है| पानी को उबाला जाता है| गर्म करते समय इसमें दूध और चायपत्ती, विलेय के रूप में डाला जाता है| इससे एक विलयन तैयार होता है| इस घोल या विलयन को छननी द्वारा छाना जाता है| अघुलनशील पदार्थ छननी में बच जाता है| घुलेय के रूप में चीनी डाला जाता है| परिणामस्वरूप चाय अर्थात विलयन के रूप में तैयार हो जाता है|

3. प्रज्ञा ने तीन अलग-अलग पदार्थों की घुलनशीलताओं को विभिन्न तापमान पर जाँचा तथा नीचे दिए आंकड़ों को प्राप्त किया| प्राप्त हुए परिणामों को 100g जल में विलेय पदार्थ की मात्रा, जो संतृप्त विलयन बनाने हेतु पर्याप्त है, निम्नलिखित तालिका में दर्शाया गया है|  

(a) 50g जल में 313K पर पोटैशियम नाइट्रेट के संतृप्त विलयन को प्राप्त करने हेतु कितने ग्राम पोटैशियम नाइट्रेट की आवश्यकता होगी?

(b) प्रज्ञा 353K पर पोटैशियम क्लोराइड का एक संतृप्त विलयन तैयार करती है और विलयन को कमरे के तापमान पर ठंडा होने के लिए छोड़ देती है| जब विलयन ठंडा होगा तो वह क्या अवलोकित करेगी? स्पष्ट करें|

(c) 293K पर प्रत्येक लवण की घुलनशीलता का परिकलन करें| इस तापमान पर कौन-सा लवण सबसे अधिक घुलनशील होगा?

(d) तापमान में परिवर्तन से लवण की घुलनशीलता पर क्या प्रभाव पड़ता है?

उत्तर

(a) चूँकि 100g जल में 313K पर 31g पोटैशियम नाइट्रेट के संतृप्त विलयन को प्राप्त करने के लिए 62g पोटैशियम नाइट्रेट की आवश्यकता होती है इसलिए 50g जल में 313K पर पोटैशियम नाइट्रेट के संतृप्त विलयन को प्राप्त करने हेतु 31g पोटैशियम नाइट्रेट की आवश्यकता होगी|

(b) तापमान में वृद्धि के साथ पोटैशियम क्लोराइड का संतृप्त विलयन बनाने के लिए पानी में घोलना चाहिए| इस प्रकार, जैसे ही विलयन ठंडा होगा पोटैशियम क्लोराइड का कुछ अंश विलयन से बाहर अवक्षेपित हो जाएगा|

(c) 293K पर प्रत्येक लवण की घुलनशीलता निम्नलिखित है:
पोटैशियम नाइट्रेट- 32g
सोडियम क्लोराइड- 36g
पोटैशियम क्लोराइड- 35g
अमोनियम क्लोराइड- 37g

(d) लवण की घुलनशीलता तापमान के साथ बढ़ जाती है|

4. निम्न की उदाहरण सहित व्याख्या करें:
(a) संतृप्त विलयन
(b) शुद्ध पदार्थ
(c) कोलाइड
(d) निलंबन

उत्तर

(a) संतृप्त विलयन- दिए गए निश्चित तापमान पर यदि विलयन में विलेय पदार्थ नहीं घुलता है तो उसे संतृप्त विलयन कहते हैं| उदाहरण के लिए चीनी के जलीय घोल में उससे अधिक चीनी कमरे के तापमान पर नहीं घुल सकता है|

(b) शुद्ध पदार्थ- एक शुद्ध पदार्थ एक ही प्रकार के कणों से मिलकर बना होता है जिसमें मौजूद सभी कण समान रासायनिक प्रकृति के होते हैं| उदहारण के लिए- जल, चीनी, नमक इत्यादि|

(c) कोलाइड- कोलाइड एक विषमांगी मिश्रण है जिसके कणों के आकार इतने भी छोटे नहीं लेकिन पृथक रूप में हम इसे नग्न आँखों से नहीं देख सकते हैं| ये कण प्रकाश की किरण को आसानी से फैला देते हैं और उसके मार्ग को दृश्य बना देते हैं| उदाहरण के लिए- दूध, धुआँ इत्यादि|

(d) निलंबन- निलंबन एक विषमांगी मिश्रण होता है जिसका घोल ठोस द्रव में परिक्षेपित हो जाता है| इसमें विलेय पदार्थ कण घुलते नहीं हैं बल्कि माध्यम की समष्टि में निलंबित रहते हैं| उदाहरण के लिए- पेंट, कीचड़युक्त पानी, का मिश्रण इत्यादि|

5. निम्नलिखित में से प्रत्येक को समांगी और विषमांगी मिश्रणों में वर्गीकृत करें:
सोडा जल, लकड़ी, बर्फ, वायु, मिट्टी, सिरका, छनी हुई चाय|

उत्तर

• समांगी मिश्रण- सोडा जल, वायु, सिरका, छनी हुई चाय|
• विषमांगी मिश्रण- लकड़ी, बर्फ, मिट्टी|

6. आप किस प्रकार पुष्टि करेंगे कि दिया हुआ रंगहीन द्रव शुद्ध जल है?

उत्तर

रंगहीन द्रव का एक नमूना लें और स्टोव पर रख दें| यदि यह 100⁰C पर उबलना शुरू होता है तो यह शुद्ध जल है| किसी और रंगहीन द्रव जैसे सिरका का क्वथनांक बिंदु अलग होता है| यदि ध्यान से देखें कि कुछ समय बाद पूरा द्रव किसी भी अवशेष को छोड़े बिना भाप में परिवर्तित हो जाता है|

7. निम्नलिखित में से कौन-सी वस्तुएँ शुद्ध पदार्थ है?
(a) बर्फ
(b) दूध
(c) लोहा
(d) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल
(e) कैल्शियम ऑक्साइड
(f) पारा
(g) ईंट
(h) लकड़ी
(i) वायु

उत्तर

शुद्ध पदार्थ-
(a) बर्फ 
(c) लोहा
(d)  हाइड्रोक्लोरिक अम्ल
(e) कैल्शियम ऑक्साइड
(f) पारा

8. निम्नलिखित मिश्रणों में से विलयन की पहचान करें|
(a) मिट्टी
(b) समुद्री जल
(c) वायु
(d) कोयला
(e) सोडा जल

उत्तर

निम्नलिखित मिश्रण विलयन हैं:
(b) समुद्री जल
(c) वायु
(e) सोडा जल

9. निम्नलिखित में से कौन टिनडल प्रभाव को प्रदर्शित करेगा? 
(a) नमक का घोल
(b) दूध
(c) कॉपर सल्फेट का विलयन
(d) स्टार्च विलयन

उत्तर

टिनडल प्रभाव कोलाइड विलयन में देखा जा सकता है| यहाँ दूध और स्टार्च विलयन कोलाइड विलयन हैं इसलिए इनमें टिनडल प्रभाव देखा जा सकता है|

10. निम्नलिखित को तत्व, यौगिक तथा मिश्रण में वर्गीकृत करें:
(a) सोडियम
(b) मिट्टी
(c) चीनी का घोल
(d) चाँदी
(e) कैल्शियम कार्बोनेट
(f) टिन
(g) सिलिकन
(h) कोयला 
(i)वायु
(j) साबुन
(k) मिथेन
(l) कार्बन डाइऑक्साइड
(m) रक्त

उत्तर

• तत्व- सोडियम, चाँदी, टिन, सिलिकन|

• यौगिक- कैल्शियम कार्बोनेट, मिथेन, कार्बन डाइऑक्साइड|

• मिश्रण- मिट्टी, चीनी, कोयला, वायु, साबुन, रक्त|

10. निम्नलिखित में से कौन-कौन से परिवर्तन रासायनिक हैं?
(a) पौधों की वृद्धि
(d) लोहे में जंग लगना
(c) लोहे के चूर्ण तथा बालू को मिलाना
(b) लोहे में जंग लगना
 (e) भोजन का पाचन
(f) जल से बर्फ बनना
(g) मोमबत्ती का जलना

उत्तर

निम्नलिखित परिवर्तन रासायनिक हैं:
(a) पौधों की वृद्धि
(b) लोहे में जंग लगना
(d) लोहे में जंग लगना
(e) भोजन का पाचन
(g) मोमबत्ती का जलना

Which sports has maximum age fraud in India to watch at Powersportz.tv
Facebook Comments
0 Comments
© 2017 Study Rankers is a registered trademark.