>

पद-परिचय - हिंदी व्याकरण Class 10 Course A

You will find पद-परिचय Hindi Vyakaran Class 10 Hindi Course A will be make sure that a student has understood the specifics of every chapter in clear and precise manner. You will understand the various factors through which one can improve their efficiency and eventually scores higher in the exam. NCERT Solutions for Class 10 Hindi will make entire memorizing process effortless and entertaining.

पद-परिचय - हिंदी व्याकरण Class 10 Course A

पद किसे कहते हैं?

भाषा की सबसे छोटी इकाई शब्द है| वाक्य में प्रयुक्त शब्द को पद कहते हैं| किसी वाक्य में आए संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया तथा अव्यय आदि का पृथक-पृथक पूर्ण परिचय देने को 'पद-परिचय' कहते हैं। वाक्य में आए किसी शब्द की सभी भूमिकाओं और उसकी व्याकरणिक परिचय देना पद परिचय होता है|

पद परिचय में निम्नलिखित तत्वों का होना जरूरी है-

• संज्ञा-संज्ञा के भेद, लिंग, वचन, कारक, क्रिया के साथ संबंध।
• सर्वनाम-सर्वनाम के भेद, पुरुष, लिंग, वचन, कारक, क्रिया के साथ संबंध।
• विशेषण-विशेषण के भेद, लिंग, वचन, विशेष्य, अवस्था (तर, तम आदि कोटियाँ), प्रविशेषण का उल्लेख।
• क्रिया-अकर्मक, सकर्मक, लिंग, वचन, पुरुष, धातु, काल, वाच्य, प्रयोग, कर्ता और कर्म का संकेत।
• क्रियाविशेषण-भेद, जिस क्रिया की विशेषता बताई गई हो उसके बारे में निर्देश।
• समुच्चयबोधक-भेद, संयुक्त शब्दों, वाक्यांशों तथा वाक्यों का उल्लेख।
• संबंधबोधक-भेद, पदों, पदबंधों, वाक्यांशों से संबंध का निर्देश।
• विस्मयादिबोधक-भेद का नाम।

1. रमेश पत्र लिखता है|

रमेश - संज्ञा, व्यक्तिवाचक, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ता कारक, 'लिखता है' क्रिया का कर्ता|
पत्र - जातिवाचक संज्ञा , पुल्लिंग, एकवचन, कर्म कारक,  'लिखता है' क्रिया का कर्म|
लिखता है - सकर्मक क्रिया, कर्तृवाच्य, पुल्लिंग, वर्तमान काल, अन्य पुरुष, एकवचन, 'वह' सर्वनाम के अनुसार, कर्तरि प्रयोग, निश्चयार्थ|

2. मैं रोज सुबह धीरे-धीरे चलता हूँ|

मैं - पुरुषवाचक सर्वनाम, उत्तम पुरुष, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ता कारक, 'चलता हूँ' क्रिया का कर्ता|
रोज सुबह - कालवाचक क्रियाविशेषण, 'चलता हूँ' क्रिया की विशेषता बताता है|
धीरे-धीरे - रीतिवाचक क्रियाविशेषण, 'चलता हूँ' क्रिया की विशेषता बताता है|
चलता हूँ - अकर्मक क्रिया, कर्तृवाच्य, पुल्लिंग, एकवचन, वर्तमान काल, 'मैं' कर्ता का क्रिया|

3. वह किसे देखता है?

वह - पुरुषवाचक सर्वनाम, अन्य पुरुष, एकवचन, पुल्लिंग, कर्ता कारक, 'देखता है' क्रिया का कर्ता|
किसे - प्रश्नवाचक सर्वनाम, पुल्लिंग, एकवचन, कर्म कारक, 'देखता है' क्रिया का कर्म|
देखता है - सकर्मक क्रिया, कर्तृवाच्य, पुल्लिंग, एकवचन, वर्तमान काल, कर्ता 'वह' के अनुसार, कर्तरि प्रयोग, निश्चयार्थ|

4. ओह! उपवन तो अस्त-व्यस्त है|

ओह - अव्यय, विस्मियादिबोधक, दुःख और विस्मयसूचक|
उपवन - जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन|
तो - निपात|
अस्त-व्यस्त है - रीतिवाचक क्रियाविशेषण, एकवचन, वर्तमान काल, कर्तरि प्रयोग|

निम्नलिखित वाक्य में मोटे काले शब्दों का पद-परिचय दीजिए-

1. मैं अभी आया|
2. मोहित यहाँ दसवीं कक्षा में पढ़ता था|
3. यह पुस्तक किसकी है|
4. जब मैं पहुँचा तो आशीष सो रहा था|

उत्तर

1. अभी - समयसूचक क्रियाविशेषण, 'आया' क्रिया की विशेषता बताता है|
आया - अकर्मक क्रिया, एकवचन, पुल्लिंग, कर्तृवाच्य, कर्तरि प्रयोग, निश्चयार्थ, सामान्य भूतकाल, उत्तम पुरुष|

2. मोहित - व्यक्तिवाचक संज्ञा, एकवचन, पुल्लिंग, कर्ता कारक, 'पढ़ता था' क्रिया का कर्ता|
दसवीं - संख्यावाचक विशेषण, एकवचन, स्त्रीलिंग, 'कक्षा' विशेष्य|
कक्षा - जातिवाचक संज्ञा, स्त्रीलिंग, एकवचन, अधिकरण कारक|
पढ़ता था - अकर्मक क्रिया, पुल्लिंग, अन्य पुरुष, एकवचन, भूतकाल, कर्तरि प्रयोग, निश्चयार्थ, कर्तृवाच्य, अपूर्ण पक्ष, 'मोहित' कर्ता|

3. यह - सार्वनामिक विशेषण, एकवचन,स्त्रीलिंग, 'पुस्तक' विशेष्य|
पुस्तक - जातिवाचक संज्ञा, एकवचन, पुल्लिंग|
किसकी है -  सकर्मक क्रिया, वर्तमान काल, एकवचन, स्त्रीलिंग, प्रश्नवाचक|

4. मैं - सर्वनाम उत्तमपुरुष, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ता कारक, 'पहुँचा' क्रिया का कर्ता|
सो रहा था - अकर्मक क्रिया, एकवचन, पुल्लिंग, भूतकाल, निश्चयार्थ, कर्मणि प्रयोग, कर्तृवाच्य, अपूर्ण पक्ष, 'आशीष' कर्ता|
Previous Post Next Post
X
Free Study Rankers App Download Now