Extra Questions of पाठ 4 - चाँद से थोड़ी-सी गप्पें| वसंत भाग - I Class 6th

Extra Questions of Chapter 4 Chand se thodi si Gappen Vasant Part I Class 6th

अर्थग्रहण सम्बन्धी प्रश्न -

(क) गोल हैं खूब मगर
आप तिरछे नज़र आते हैं ज़रा।
आप पहने हुए हैं कुल आकाश
तारों-जड़ा;
 सिर्फ़ मुँह खोले हुए हैं अपना
गोरा-चिट्टा
गोल मटोल,
अपनी पोशाक को फैलाए हुए चारों सिम्त।

1. चाँद कैसा है ?

उत्तर

चाँद खूब गोल है |

2. चाँद ने क्या पहना हुआ है ?    

उत्तर

चाँद ने तारों से जड़े समस्त आकाश को पहना हुआ है।

3. चाँद का मुँह कैसा है ? 

उत्तर

चाँद का मुँह खुला हुआ है । वह गोरा-चिट्टा और गोल-मटोल है।

लघु उत्तरीय प्रश्न –

1. कवि लड़की के माध्यम से चाँद पर क्या कटाक्ष करता है ?

उत्तर

तुम्हें घटने-बढ़ने की बीमारी है -घटते हो तो घटते ही चले जाते हो और बढ़ते हो तो बढ़ते ही चले जाते हो|

2. लड़की चाँद के संबंध में क्या सझती है ?

उत्तर

लड़की समझती है कि चाँद को कोई बीमारी है इसलिए वह तिरछा दिखाई देता है |

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न -

1. कवि ने चाँद के घटने-बढ़ने को क्या माना है और क्यों ?

उत्तर

चंद्रमा के घटने बढ़ने को देखकर बालिका ने इसे एक लाइलाज बीमारी माना है क्योंकि कितनी भी परिस्थितियाँ बदलती रहें, लेकिन चाँद के इस बढ़ने - घटने में कोई परिवर्तन नहीं आता|



GET OUR ANDROID APP

Get Offline Ncert Books, Ebooks and Videos Ask your doubts from our experts Get Ebooks for every chapter Play quiz while you study

Download our app for FREE

Study Rankers Android App Learn more

Study Rankers App Promo