NCERT Solutions for Class 9th: Ch 1 हमारे आस-पास के पदार्थ विज्ञान

NCERT Solutions of Science in Hindi for Class 9th: Ch 1 हमारे आस-पास के पदार्थ विज्ञान 

प्रश्न 

पृष्ठ संख्या 4

1. निम्नलिखित में से कौन-से पदार्थ हैं-
कुर्सी, वायु, स्नेह, गंध, घृणा, बादाम, विचार, शीत, शीतल पेय, इत्र की सुगंध

उत्तर

कुर्सी, वायु, बादाम, शीतल पेय

2. निम्नलिखित प्रेक्षण के कारण बताएँ-
गर्मा-गरम खाने की गंध कई मीटर दूर से ही आपके पास पहुँच जाती हैं लेकिन ठंडे खाने की महक लेने के लिए आपको उसके पास जाना पड़ता है|

उत्तर

ठोस का विसरण धीमी गति से होता है| लेकिन, यदि ठोस का तापमान बढ़ाया जाता है तो वायु उनके कणों का विसरण दर बढ़ जाता है| यह ठोस कणों के गतिज ऊर्जा में वृद्धि के कारण होता है| इसलिए गर्मा-गरम खाने की गंध कई मीटर दूर से ही आपके पास पहुँच जाती हैं लेकिन ठंडे खाने की महक लेने के लिए आपको उसके पास जाना पड़ता है|

3. स्वीमिंग पूल में गोताखोर पानी काट पाता है| इससे पदार्थ का कौन-सा गुण प्रेक्षित होता है?

उत्तर

इससे पता चलता है कि द्रव अवस्था में पदार्थ के कण स्वतंत्र रूप से गति करते हैं और ठोस की अपेक्षा द्रव के कणों में रिक्त स्थान भी अधिक होता है, जिसके कारण स्वीमिंग पूल में गोताखोर पानी काट पाता है|

4. पदार्थ के कणों की क्या विशेषताएँ होती है?

उत्तर

पदार्थ के कणों की निम्नलिखित विशेषताएँ होती हैं:
(i) पदार्थ के कण निरंतर गतिशील होते हैं|
(ii) पदार्थ के कणों के बीच रिक्त स्थान होता है|
(iii) पदार्थ के कण एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं|

पृष्ठ संख्या 6

1. किसी तत्व के द्रव्यमान प्रति इकाई आयतन को घनत्व कहते हैं| (घनत्व = द्रव्यमान/आयतन) बढ़ते हुए घनत्व के क्रम में निम्नलिखित को व्यवस्थित करें- वायु, चिमनी का धुआँ, शहद, जल, चॉक, रुई और लोहा|

उत्तर

वायु, चिमनी का धुआँ, रुई, जल, शहद, लोहा|

2. (a) पदार्थ की विभिन्न अवस्थाओं के गुणों में होने वाले अंतर की सारणीबद्ध कीजिए|

उत्तर

ठोस अवस्था
द्रव अवस्था
गैसीय अवस्था
ये निश्चित आकार तथा आयतन के होते हैं|
इनका आकार नहीं लेकिन आयतन निश्चित होता है| जिस बर्तन में इन्हें रखा जाए तो ये उसी का आकार ले लेते हैं|गैसों में न तो निश्चित आकार होता है और न ही निश्चित आयतन|
नगण्य संपीड्यताद्रवों में कम संपीड्यता होती है|ठोसों और द्रवों की तुलना में गैसों की संपीड्यता अधिक होती है|
इनके कण स्वतंत्र रूप से गतिशील नहीं होते हैं|

इनके कण स्वतंत्र रूप से गतिशील होते हैं |गैसीय अवस्था में कणों की गति अनियमित और अत्यधिक तीव्र होती है|
इनमें बहाव नहीं होता है|

इनमें बहाव होता है|इनमें भी बहाव होता है|
इनके कणों के बीच अधिकतम आकर्षण होता है|

इनके कणों के बीच ठोस की अपेक्षा कम लेकिन गैस की अपेक्षा अधिक आकर्षण होता है|इनके कणों के बीच सबसे कम आकर्षण होता है|

(b) निम्नलिखित पर टिप्पणी कीजिए- दृढ़ता, संपीड्यता, तरलता, बर्तन में गैस का भरना, आकार, गतिज ऊर्जा एवं घनत्व|

उत्तर

दृढ़ता- पदार्थ का वह गुण, जिससे उसके आकार में कोई परिवर्तन नहीं होता है|

संपीड्यता- यह पदार्थ का वह गुण है जिससे बल लगाए जाने पर उसके आयतन में परिवर्तन होता है| 

तरलता- यह पदार्थ के बहाव की क्षमता है|

बर्तन में गैस का भरना- बर्तन में गैस भरने पर यह उसी का आकार ले लेता है|

आकार- स्पष्ट सीमाएँ होती हैं|

गतिज ऊर्जा- पदार्थ के कणों के निरंतर गतिशील होने के कारण इनमें गतिज ऊर्जा होती हैं|

घनत्व- किसी तत्व के द्रव्यमान प्रति इकाई आयतन को घनत्व कहते हैं|

3. कारण बताएँ –
(a) गैस पूरी तरह उस बर्तन को भर देती है, जिसमें इसे रखते हैं|

उत्तर

गैस के कणों के बीच का अकर्षण बल नगण्य होता है| इसके कारण गैस के कण सभी दिशाओं में गतिशील होते हैं| इस प्रकार गैस पूरी तरह उस बर्तन को भर देती है, जिसमें इसे रखते हैं|

(b) गैस बर्तन की दीवारों पर दबाव डालती है|

उत्तर

गैसीय अवस्था में कणों की गति अनियमित और अत्यधिक तीव्र होती है| इस अनियमित गति के कारण ये कण आपस में एवं बर्तन की दीवारों से टकराते हैं| इसलिए गैस बर्तन की दीवारों पर दबाव डालती है|

(c) लकड़ी की मेज ठोस कहलाती है|

उत्तर

लकड़ी की मेज का निश्चित आकार तथा निश्चित आयतन होता है, जो ठोस की मुख्य विशेषता है| इसलिए लकड़ी की मेज ठोस कहलाती है|

(d) हवा में हम आसानी से अपना हाथ चला सकते हैं, लेकिन एक ठोस लकड़ी के टुकड़े में हाथ चलाने के लिए हमें कराटे में दक्ष होना पड़ेगा|

उत्तर

वायु के कणों में रिक्त स्थान अधिक होता है| वहीँ दूसरी तरफ, लकड़ी के कणों में बहुत कम रिक्त स्थान होता है| साथ ही यह कठोर होता है| इसलिए हवा में हम आसानी से अपना हाथ चला सकते हैं, लेकिन एक ठोस लकड़ी के टुकड़े में हाथ चलाने के लिए हमें कराटे में दक्ष होना पड़ेगा|

4. सामान्यतया ठोस पदार्थों की अपेक्षा द्रवों का घनत्व कम होता है| लेकिन आपने बर्फ के टुकड़े को जल में तैरते हुए देखा होगा| पता लगाइए, ऐसा क्यों होता है?

उत्तर

बर्फ जो ठोस होता है तथा जल के अणुओं के बीच रिक्त स्थान होता है, जिसके कारण पानी की तुलना में बर्फ हल्का होता है| यही कारण है कि बर्फ का टुकड़ा जल में तैरता है|

पृष्ठ संख्या 9

1. निम्नलिखित तापमान को सेल्सियस में बदलें|
a. 300 K   
b. 573 K

उत्तर

a. 300 K = (300 - 273)°C
= 27°C

b. 573 K = (573 - 273)°C
= 300°C

2. निम्नलिखित तापमान पर जल की भौतिक अवस्था क्या होगी?
a. 250°C

उत्तर

गैसीय अवस्था 

b. 100°C

उत्तर

चूँकि इस तापमान पर पानी उबलता है इसलिए यह गैस या द्रव अवस्था में हो सकता है| इस तापमान पर, दी गई ऊष्मा वाष्पीकरण की गुप्त ऊष्मा के बराबर होती है, जिसके कारण जल द्रव अवस्था से गैसीय अवस्था में परिवर्तित होने लगता है| 

3. किसी भी पदार्थ की अवस्था परिवर्तन के दौरान तापमान स्थिर क्यों रहता है?

उत्तर

किसी भी पदार्थ की अवस्था परिवर्तन के दौरान, प्रदत्त की गई या निर्गत ऊष्मा का प्रयोग अवस्था परिवर्तन में किया जाता है| इस ऊष्मा को गुप्त ऊष्मा कहते हैं| इसलिए किसी भी पदार्थ की अवस्था परिवर्तन के दौरान तापमान स्थिर रहता है|

4. वायुमंडलीय गैसों को द्रव में परिवर्तन के लिए कोई विधि सुझाइए|

उत्तर

गैसों के कणों को नजदीक लाकर तरल पदार्थ में परिवर्तित किया जा सकता है| इसलिए वायुमंडलीय गैसों का तापमान कम कर अथवा दाब बढ़ाकर द्रव में परिवर्तित किया जा सकता है| 

पृष्ठ संख्या 11

1. गर्म, शुष्क दिन में कूलर अधिक ठंडा क्यों करता है?

उत्तर

कूलर अपने आस-पास की नमी को बढ़ा देता है| वायु में उपस्थित जल के कणों का आस-पास के ऊष्मा से वाष्पीकरण होता है| गर्म, शुष्क दिन में वातावरण में नमी का स्तर बहुत कम होता है, जिसके कारण वाष्पीकरण की दर बढ़ जाती है| वाष्पीकरण की तीव्र दर के कारण कूलर अच्छी तरह काम करता है| इसलिए गर्म, शुष्क दिन में कूलर अधिक ठंडा करता है|

2. गर्मियों में घड़े का जल ठंडा क्यों होता है?

उत्तर

मिट्टी के घड़े में छोटे-छोटे छिद्र होते हैं, जिसके द्वारा घड़े में उपस्थित जल का वाष्पीकरण होता है| वाष्पीकरण के कारण घड़े में रखा जल ठंडा हो जाता है| इसलिए गर्मियों में घड़े का जल ठंडा होता है|

3. एसीटोन/पेट्रोल या इत्र डालने पर हमारी हथेली ठंडी क्यों हो जाती है?

उत्तर

एसीटोन/पेट्रोल या इत्र कम तापमान पर वाष्पीकृत हो जाते हैं| जब कोई एसीटोन/पेट्रोल या इत्र हथेली पर डालता है, तो इसके कण हथेली या उसके आस-पास से ऊर्जा अवशोषित कर लेते हैं तथा वाष्पीकृत हो जाते हैं| इससे हमारी हथेली ठंडी हो जाती है|

4. कप की अपेक्षा प्लेट से हम गर्म दूध या चाय जल्दी क्यों पी लेते हैं?

उत्तर

कप की अपेक्षा प्लेट में द्रव अधिक सतह के क्षेत्र में होता है| इसलिए कप की अपेक्षा प्लेट में तेजी से वाष्पीकृत होता है और जल्दी ठंडा हो जाता है| इस प्रकार कप की अपेक्षा प्लेट से हम गर्म दूध या चाय जल्दी पी लेते हैं|  

5. गर्मियों में हमें किस तरह के कपड़े पहनने चाहिए?

उत्तर

गर्मियों में हमें सूती कपड़े पहनने चाहिए क्योंकि यह पसीने का अच्छा अवशोषक होता है| सूती कपड़े में पसीना अवशोषित होकर वायुमंडल में आसानी से वाष्पीकृत हो जाता है| वाष्पीकरण की प्रसुप्त ऊष्मा के बराबर ऊष्मीय ऊर्जा हमारे शरीर से अवशोषित हो जाती है, जिससे शरीर शीतल हो जाता है|

पृष्ठ संख्या 13

अभ्यास

1. निम्नलिखित तापमानों को सेल्सियस इकाई में परिवर्तित करें:
(a) 300 K

उत्तर

300 K = (300 - 273) °C
= 27 °C

(b) 573 K

उत्तर
573 K = (573 - 273) °C
= 300 °C

2. निम्नलिखित तापमान को केल्विन इकाई में परिवर्तित करें:
(a) 25°C

उत्तर
25 °C = (25 + 273) K = 298 K

(b) 373°C

उत्तर
373 °C = (373 + 273) K = 646 K

3. निम्नलिखित अवलोकनों हेतु कारण लिखें:
(a) नैफ्थलीन को रखा रहने देने पर यह समय के साथ कुछ भी ठोस पदार्थ छोड़े बिना अदृश्य हो जाती है|

उत्तर

नैफ्थलीन को रखा रहने देने पर यह समय के साथ कुछ भी ठोस पदार्थ छोड़े बिना अदृश्य हो जाती है क्योंकि उनका आसानी से उर्ध्वपातन हो जाता है| इसके कारण नैफ्थलीन ठोस अवस्था से गैसीय अवस्था में आसानी से परिवर्तित हो जाता है|

(b) हमें इत्र की गंध बहुत दूर बैठे हुए भी पहुँच जाती है|

उत्तर

इत्र में उच्च स्तर पर वाष्पीकरण होता है और हवा में इसका विसरण तेजी से होता है| इसलिए हमें इत्र की गंध बहुत दूर बैठे हुए भी पहुँच जाती है|

4. निम्नलिखित पदार्थों को उनके कणों के बीच बढ़ते हुए आकर्षण के अनुसार व्यवस्थित करें:
(a) जल 
(b) चीनी
(c) ऑक्सीजन

उत्तर
ऑक्सीजन, जल, चीनी|

5. निम्नलिखित तापमानों पर जल की भौतिक अवस्था क्या है?
(a) 25°C
उत्तर
द्रव अवस्था|

(b) 0°C
उत्तर
ठोस अवस्था, द्रव अवस्था में भी हो सकता है| (कुछ परिस्थितियों में)

(c) 100°C
उत्तर
गैसीय अवस्था में, द्रव अवस्था में भी हो सकता है| (कुछ परिस्थितियों में)

6. पुष्टि हेतु कारण दें:
(a) जल कमरे के ताप पर द्रव है|

उत्तर

जल कमरे के ताप पर द्रव है क्योंकि इसमें तरलता होती है| इसका निश्चित आकार नहीं, लेकिन निश्चित आयतन होता है| इसलिए यह उसी बर्तन का आकार ले लेता है, जिसमें यह रखा जाता है|

(b) लोहे की अलमारी कमरे के ताप पर ठोस है|

उत्तर

लोहे की अलमारी कमरे के ताप पर ठोस है क्योंकि यह कठोर होता है तथा इसका निश्चित आकार होता है|

7. 273 K पर बर्फ को ठंडा करने पर तथा जल को इसी तापमान पर ठंडा करने पर शीतलता का प्रभाव अधिक क्यों होता है?

उत्तर

273 K पर बर्फ में जल की अपेक्षा कम ऊर्जा होती है| जल में अतिरिक्त संगलन की प्रसुप्त ऊष्मा होती है| इसलिए 273 K पर बर्फ की तुलना में जल में शीतलता का प्रभाव अधिक होता है|

8. उबलते हुए जल अथवा भाप में से जलने की तीव्रता किसमें अधिक महसूस होती है?

उत्तर

उबलते हुए जल की अपेक्षा भाप में अधिक ऊर्जा होती है| इसमें अतिरिक्त वाष्पीकरण की गुप्त ऊष्मा भी होती है| |

9. निम्नलिखित चित्र के लिए A, B, C, D, E तथा F की अवस्था परिवर्तन को नामांकित करे:
उत्तर

A- पिघलना, यहाँ ठोस द्रव में परिवर्तित हो रहा है|
B- वाष्पीकरण, यहाँ द्रव गैस में परिवर्तित हो रहा है|
C- संघनन, द्रव गैस में परिवर्तित हो रहा है|
D- जमना, द्रव ठोस अवस्था में परिवर्तित हो रहा है|
E- ऊर्ध्वपातन, यहाँ ठोस द्रव में परिवर्तित हुए बिना ही सीधे गैसीय अवस्था में परिवर्तित हो रहा है|
F- ऊर्ध्वपातन, यहाँ गैस द्रव में परिवर्तित हुए बिना ही सीधे ठोस अवस्था में परिवर्तित हो रहा है|

Who stopped Indian cricket from Olympics. Click Talking Turkey on POWER SPORTZ to hear Kambli.
Facebook Comments
0 Comments
© 2017 Study Rankers is a registered trademark.