NCERT Solutions for Class 11th: पाठ 1 - भारत - स्थिति भारत भौतिक पर्यावरण (Bharat - Sthiti) Bharat Bhautik Paryavaran

पृष्ठ संख्या: 5

1. खाड़ी तथा जलसंधि में अंतर स्पष्ट कीजिए|

उत्तर

खाड़ी
जलसंधि
जल का वह भाग जो तीन तरफ स्थल से घिरा हो और एक भाग का मुहाना समुद्र से मिला होता है|  जलसंधि दो महाद्वीपों, द्वीपों या दो बड़े जल क्षेत्रों के बीच स्वाभाविक रूप से बनाई गई संकीर्ण पट्टी को कहते हैं|

अभ्यास

पृष्ठ संख्या: 5

1. नीचे दिए गए चार विकल्पों में से उपयुक्त उत्तर का चयन कीजिए:

(i) निम्नलिखित में से कौन-सा अक्षांशीय विस्तार भारत की संपूर्ण भूमि के विस्तार के सन्दर्भ में प्रासंगिक है?
(क) 8°41' उ. से 35°7' उ.
(ख) 8°4' उ. से 37°6' उ.
(ग) 8°4' उ. से 35°6' उ.
(घ) 6°45' उ. से 37°6' उ.
► (ख) 8°4' उ. से 37°6' उ.

(ii) निम्नलिखित में से किस देश की भारत के साथ सबसे लंबी स्थलीय सीमा है?
(क) बांग्लादेश
(ख) पाकिस्तान
(ग) चीन
(घ) म्यांमार
► (क) बांग्लादेश

(iii) निम्नलिखित में से कौन-सा देश क्षेत्रफल में भारत से बड़ा है?
(क) चीन
(ख) फ्रांस
(ग) मिस्र
(घ) ईरान
► (क) चीन

पृष्ठ संख्या: 6

(iv) निम्नलिखित याम्योत्तर में से कौन-सा भारत का मानक याम्योत्तर है?
(क) 69°30' पूर्व
(ख) 82°30' पूर्व
(ग) 75°30' पूर्व
(घ) 90°30' पूर्व
► (ख) 82°30' पूर्व

(v) अगर आप एक सीधी रेखा में राजस्थान से नागालैंड की यात्रा करें तो निम्नलिखित नदियों में से किस एक को आप पार नहीं करेंगे?
(क) यमुना
(ख) सिंधु
(ग) ब्रह्मपुत्र
(घ) गंगा
► (ख) सिंधु

2. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए:

(i) क्या भारत को एक से अधिक मानक समय की आवश्यकता है? यदि हाँ, तो आप ऐसा क्यों सोचते हैं?

उत्तर

हाँ, भारत को एक से अधिक मानक समय की आवश्यकता है, क्योंकि देश के सबसे पूर्वी व सबसे पश्चिमी भागों के समय में लगभग 2 घंटों का अंतर होता है| भारत के देशांतर रेखाओं के मानों में 30° का अंतर है| इसलिए, हमें एक से अधिक मानक समय की आवश्यकता है| कुछ ऐसे हैं जिनमें अधिक पूर्व-पश्चिम विस्तार के कारण एक से अधिक मानक देशांतर रेखाएँ हैं| उदाहरणतः संयुक्त राज्य अमेरिका में छह समय कटिबंध है|

(ii) भारत की लंबी तटरेखा के क्या प्रभाव हैं?

उत्तर

भारत का प्रायद्वीप भाग हिन्द महासागर की ओर उभरा हुआ है| भारत की मुख्य भूमि 6,100 किलोमीटर की समुद्र तट तथा संपूर्ण तट रेखा द्वीप समूह अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप समेत 7,517 किलोमीटर पर विस्तृत है| यह पश्चिमी तट से पश्चिमी एशिया, अफ्रीका और यूरोप तथा पूर्वी तट से दक्षिणपूर्व और पूर्वी एशिया के साथ संबंध स्थापित करने में भारत की सहायता करता है| हालांकि, यह बाहरी बलों से सुरक्षा के लिए समुद्र तटरेखा की नियमित निगरानी रखने के लिए भारत को ताकत प्रदान करता है|

(iii) भारत का देशांतरीय फैलाव इसके लिए किस प्रकार लाभप्रद है?

उत्तर

भारत का देशांतरीय फैलाव इसके लिए कई तरीके से लाभप्रद है:
• भारत का दक्षिणी हिस्सा उष्णकटिबंध में और उत्तरी हिस्सा उपोष्ण कटिबंध अथवा कोष्ण शीतोष्ण कटिबंध में स्थित है|
• यही स्थिति देश में भूआकृति, जलवायु, मिट्टी के प्रकारों तथा प्राकृतिक वनस्पति में पाई जाने वाली भारी भिन्नता के लिए उत्तरदायी है|

(iv) जबकि पूर्व में, उदाहरणतः नागालैंड में, सूर्य पहले उदय होता है और पहले ही अस्त होता है, फिर कोहिमा और नई दिल्ली में घड़ियाँ एक ही समय क्यों दिखाती हैं?

उत्तर

भारत में पूरे देश के लिए एक ही मानक समय निर्धारित किया गया है| 82°30' पूर्व याम्योत्तर को भारत की मानक याम्योत्तर चुना गया है| भारतीय मानक समय ग्रीनविच माध्य समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे है| इसलिए, जबकि पूर्व में, उदाहरणतः नागालैंड में, सूर्य पहले उदय होता है और पहले ही अस्त होता है, फिर कोहिमा और नई दिल्ली में घड़ियाँ एक ही समय दिखाती हैं|


Previous Post Next Post
X
Free Study Rankers App Download Now