Three Men in a Boat Ch 6 Summary in Hindi Class 9th

Three Men in a Boat Ch 6 Summary in Hindi Class 9th- पाठ 6 का सार English

वे किंग्स्टन पहुंचे जो पहले "कैनिंगस्टन " के नाम से जाना जाता था जब वहां सैक्सन "राजाओं" का राज था । पुराने घर रईसों और दरबारियों की बात कर रहे थे जो लाल ईंट के घर में रहते थे।

जिम को किंग्स्टन में एक घर की याद आ गयी जो कि अब एक दुकान है । उस घर में एक शानदार नक्काशीदार ओक सीढ़ी थी। दुकानदार एक बार उसके दोस्त को उस घर में ले गया जहाँ कि दीवार में ओक के पैनल थे । दीवार को अब नीली कागज से कवर किया गया था। जिम को इस बात का दुख होता है कि लोगों को हमेशा वही मिल जाता है जो वो नहीं चाहते हैं ।

जिम एक लड़के को याद करता है जिसका नाम है स्टीविंग्स जो उसके स्कूल में पढता था। वह पढ़ने में एक असाधारण छात्र था लेकिन सप्ताह में दो बार बीमार हो जाया करता था। 1871 के हैजा देखभाल के दौरान उनके प्रतिष्ठित सोसाइटी में स्टीविंग्स ही एक मात्र मामला था। जब भी वह पड़ता तो उसे बिस्तर में पड़े रहना पड़ता था और उसे मुर्गियां, कस्टर्ड और अंगूर खाने पड़ते थे।

आखिरकार वे नाव पर थे और हैम्पटन कोर्ट के पास से गुजर रहे थे। हैरिस ने चप्पू दूर फेंक दिया, उठकर जिम की पीठ पर बैठ गया और हवा में अपने पैर फैला लिया । मोंटमोरेन्सी ने चीखते हुए एक कलाबाजी खायी जिससे बक्सा उछल गया और सभी चीजें बाहर आ गया। जिम ने हैम्पटन कोर्ट की दीवारों के चारों ओर जो दिखने में शांतिपूर्ण थे नाव को घुमाया।

हैरिस भूलभुलैया में भीतर जाकर खो जाने की घटना का वर्णन करता है जब वह एक बार किसी को दिखाने के लिए ले गया था। हैरिस ने कहा कि उसने नक्शे का अध्ययन किया था और सोचा कि यह सरल होगा। उन्हें वह कुछ और लोग मिले जो बाहर आने के लिए उनके साथ ही चलने लगे। हैरिस रास्ता खो गया था तो वे वापस प्रवेश द्वार पर गए पर वे बाहर निकलने का रास्ता खोजने में फिर विफल रहे । उन्होंने युवा कीपर को बुलाया पर वो नया था। भूलभुलैया में घुसने पर वो खुद ही रास्ता भूल गया । फिर बूढ़ा कीपर दोपहर के भोजन के बाद आया और उन्हें बचाया। हैरिस ने कहा कि यह बहुत ही सुन्दर भूलभुलैया था। हैरिस और जिम इस बात पर सहमत होते हैं कि वापसी की यात्रा पर इस भूलभुलैया में जॉर्ज को प्रवेश करवाने की कोशिश करेंगे।

Back to Chapter

Facebook Comments
0 Comments
© 2017 Study Rankers is a registered trademark.