NCERT Solutions for Class 7th: पाठ - 8 काबुलीवाला (कहानी) हिंदी

 NCERT Solutions for Class 7th: पाठ - 8 काबुलीवाला (कहानी) हिंदी दूर्वा भाग - II

पृष्ठ संख्या: 48

अभ्यास

3. पाठ संबंधी प्रश्न

क. मिनी को ऐसा क्यों लगता था कि काबुलीवाला अपनी झोली में चुराए हुए बच्चों को छिपाए हुए है?

उत्तर

काबुलीवाला अपने कंधे से लटकाकर एक झोली रखता था। चूँकि मिनी बच्ची थी इसलिए उसे झोली के आकार को देखकर झूठा विश्वास हो गया था कि काबुलीवाला झोली में चुराए हुए बच्चे छिपाए हुए हैं।

ख. मिनी की काबुलीवाले से मित्रता क्यों हो गई?

उत्तर

मिनी को उसके पिता के सिवा कोई ऐसा नहीं मिला था जो उसकी बातों को धीरज से सुने। काबुलीवाला बीच-बीच में मिनी की बातों पर अपनी राय भी बताता और वह उसे बादाम-किशमिश भी देता था, इस कारण मिनी की काबुलवाले से मित्रता हो गई।

ग. काबुलीवाला हमेशा पैसा क्यों लौटा देता था?

उत्तर

काबुलीवाला एक बेटी का पिता था। वह मिनी को अपनी बेटी की तरह प्यार करता। वह मिनी के लिए बादाम-किशमिश भेंटस्वरूप लाता, बदले में पैसे दिया जाना उसे अच्छा नहीं लगता इसलिए वह हमेशा पैसा लौटा देता था।

घ. वर्षों बाद मिनी के पिता ने काबुलीवाले को उसकी किस बात से पहचान लिया?

उत्तर

काबुलीवाले की हँसी को देखकर वर्षों बाद मिनी के पिता ने उसे पहचान लिया।

4. सोचो और जवाब दो

क. रहमत ने एक धोखेबाज़ आदमी को छुरा मार दिया। क्या अगर तुम रहमत की जगह होते तो क्या करते?

उत्तर

रहमत के द्वारा धोखेबाज़ आदमी को छुरा मारना कतई उचित नहीं था। अगर मैं रहमत की जगह होता तो पुलिस में धोखेबाज़ के खिलाफ शिकायत करता।

पृष्ठ संख्या: 49

ख. मिनी की माँ रहमत पर नजर रखना चाहती थी परंतु पिता रहमत को मना नहीं कर पाते थे। तुम्हारे विचार में कौन सही था? क्यों?

उत्तर

मेरे अनुसार दोनों अपने जगह सही थे। चूँकि माँ के अनुसार रहमत एक अजनबी था इसलिए उसपर निगरानी रखना जरूरी था। वहीं दूसरी ओर पिता रहमत के स्वभाव से भली-भांति परिचित थे और उन्हें विश्वास था की रहमत एक नेक दिल व्यक्ति है।

घ. तुम नीचे लिखे वाक्य को अपनी भाषा में कैसे कहोगे?
"पलक झपकाते ही रहमत का चेहरा आनंद से खिल उठा"

उत्तर

छात्र अपनी क्षेत्रीय भाषा में इस वाक्य को लिखें।

5. सही मिलान करो

क. बे-सिर-पैर तुरंत
ख. पलक झपकते ही बिना मतलब के
ग. बँधी हुई बातें चेहरा सामने से हटा लेना
घ. बात चलना निश्चित बातें/एक ही तरह की बातचीत
ड़. मुँह फेरना बात शुरू होना

उत्तर

क. बे-सिर-पैर बिना मतलब के
ख. पलक झपकते ही तुरंत
ग. बँधी हुई बातें निश्चित बातें/एक ही तरह की बातचीत
घ. बात चलना बात शुरू होना
ड़. मुँह फेरना चेहरा सामने से हटा लेना

6. शब्द जाल

काबुलीवाला मेवे बेचता था। नीचे कुछ मेवों के नाम लिखें हैं। उन्हें दिए गए शब्दजाल में ढूँढो। ये संज्ञा हैं। इसकी विशेषता बताने वाले शब्द विशेषण होते हैं। उसे भी सोचकर लिखो।

क. पिस्ता
ख. छुआरा
ग. बादाम
घ. काजू
ड़. किशमिश
च. अखरोट

उत्तर


क. स्वादिष्ट पिस्ता
ख. काला छुआरा
ग. बड़ा बादाम
घ. कड़वा काजू
ड़. खट्टा किशमिश
च. चिकना अखरोट

7. घूमना-फिरना

'काबुलीवाला के साथ बातचीत करने से बाहर जाने का काम हो जाता है।' मिनी के पिता का ऐसा कहना बताता है कि वह काबुली से बात करके बाहर के देश-दुनिया के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेता था। आज उसके अलावा और किन किन साधनों से देश-विदेश के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

उत्तर

1. टीवी चैनलों से
2. समाचार पत्रों से
3. इंटरनेट से
4. चलचित्रों से
5. किताबों से

पृष्ठ संख्या: 50

8. देखो, समझो और करो


क. पहले खाने में घड़ा है।

ख. तीसरे खाने में ........ है।
► साँप

ग. पांचवें खाने में पगड़ी है।

घ. दसवें खाने में ........ है।
► तिरंगा

ड़. ........ खाने में कुर्ता है।
► छठे 

च. नौवें खाने में  ....... है।
►गिलास

छ. ........ में चूहा है।
► आठवें

ज. दूसरे खाने में  ....... है।
► सीढ़ी

झ. ........ खाने में  ......... है। यह हमारा राष्ट्रीय पक्षी है।
► सातवें, मोर 

ञ. ........ खाने में  ......... है। इसे चेहरे पर लगाते हैं।
► चौथे, मुखौटा

9. इन शब्दों को देखो।

बेटी, काबुलीवाला, नायक, जेल, खिड़की, झोली, पैर, बच्चा, रहमत

ये संज्ञा हैं। इनकी विशेषता बताने वाले शब्द को विशेषण कहते हैं। तुम्हें इनके साथ जो  विशेषण ठीक लगे उसे लगाकर वाक्य बनाओ।

उत्तर

1. मीना इस घर की बड़ी बेटी है।
2. काबुलीवाला झूठा है।
3. नायक सच्चा है।
4. जेल बड़ा है।
5. खिड़की छोटी है।
6. उसके पास बड़ी झोली है।
7. श्याम के पैर लंबे हैं।
8. मोहन अच्छा बच्चा है। 
9. रहमत नाटा है।

Which sports has maximum age fraud in India to watch at Powersportz.tv
Liked NCERT Solutions and Notes, Share this with your friends::
Facebook Comments
0 Comments
© 2017 Study Rankers is a registered trademark.