संकलित परीक्षा - II 2016 हिंदी 'ब' Sample Paper| Class 9th

Sample Paper of Hindi Course 'B' Class 9th Summative Assessment II 2015-16

निर्धारित समय: 3 घंटे
अधिकतम अंक: 90

निर्देश -
1. इस प्रश्न पत्र में कुल चार खंड हैं - क, ख, ग और घ।
2. खण्ड - क प्रश्न संख्या 2 मुक्त पाठ पर आधरित है।
3. चारों खंडों के प्रश्नों के उत्तर देना अनिवार्य है।
4. यथासंभव प्रत्येक खण्ड के उत्तर क्रमशः दीजिए।

खण्ड - 'क' (अपठित बोध एवं मुक्त पाठ)

1. निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए-                         (2×5=10)

हड़प्पा सभ्यता मानव जाति के प्राचीन सभ्यताओं में एक है। इसे सिंधु घाटी सभ्यता के नाम से भी जाना जाता है चूँकि यह सभ्यता सिन्धु नदी घाटी मे फैली हुई थी। यह सभ्यता मुख्यतः 2500 ई.पू. से 1800 ई. पू. तक रही। इस सभ्यता का पता उन्नीसवीं शताब्दी में अंग्रज़ों ने लगाया। यह पहली नगरीय सभ्यता थी। पहली बार कांस्य का प्रयोग भी इसे सभ्यता में मिलता है इसलिए इसे कांस्य सभ्यता भी कहा जाता है। यह एक बहुत विशाल क्षेत्र में फैला था। यह सभ्यता तीन देश पाकिस्तान, अफगानिस्तान और भारत में फैला था। आज के गुजरात, पंजाब, महराष्ट्र जैसे राज्यों के कई क्षेत्र इस सभ्यता के हिस्सा थे। हड़प्पावासी खेती और पशुपालन का कार्य करते थे चूँकि यहाँ की मिट्टी उपजाऊ थी। गेंहू, जौ, राई, मटर, ज्वार इस क्षेत्र की मुख्य फसलें थीं। खेती के औजारों के निर्माण लिए ये प्रस्तर एवं कांस्य धातु का उपयोग करते थे। लोग आपस में पत्थर, धातु, शल्क आदि का व्यापार करते थे। यातायात के लिए दो पहियों तथा चार पहियों वाली बैलगाड़ी या भैसागाड़ी का उपयोग किया जाता था। मकानों तथा भवनों के निर्माण के लिए पक्की हुर्इ ईटों का प्रयोग किया जाता था। हर नगर के हर छोटे या बड़े मकान में प्रांगण और स्नानागार होता था। इस सभ्यता के अंत के पीछे अनेक तर्क दिए जाते हैं जैसे बर्बर आक्रमण, जलवायु परिवर्तन एवं पारिस्थितिक असंतुलन, बाढ तथा भू-तात्विक परिवर्तन, महामारी आदि। इसके अंत की पीछे कोई एक कारण नहीं हो सकता बल्कि इसका अंत विभिन्न कारणों से हुआ होगा।

(क) हड़प्पा सभ्यता को अन्य किस नाम से जाना जाता है और क्यों?
(ख) यह सभ्यता किन देशों में फैला था और भारत के कौन से राज्य इसमें शामिल थे?
(ग) खेती के औजारों को बनाने के लिए क्या प्रयोग किया जाता था? मुख्य फसलों के नाम लिखिए।
(घ) हड़प्पा सभ्यता में यातयात के साधन क्या थे?
(ड़) इस सभ्यता के अंत के कारण क्या थे?

2. मुक्त पाठ विषय: पर्यावरण संरक्षण                                                          (5+5=10)
(i) पर्यावरण के दूषित होने से हमारे ऊपर इसका क्या प्रभाव पड़ रहा है? लिखिए।
(ii) पर्यावरण संरक्षण के उपाय लिखिए जिनको हम दैनिक जीवन में प्रयोग में ला सकें।

खण्ड - 'ख' (व्यावहारिक व्याकरण)

3. (क) निम्नलिखित शब्दों के वर्ण-विच्छेद कीजिये-                                                      (5)
(1) निस्संकोच
(2) तनख्वाह

(ख) निम्नलिखित शब्दों में उचित स्थान पर अनुस्वार और अनुनासिक की मात्रा का प्रयोग कीजिए-
(1) असख्य
(2) सश्लेषण
(3) भाति

4. (क) निम्नलिखित शब्दों में मूल शब्दों व उपसर्गों को अलग-अलग करके लिखिए-         (4)
(1) परिहास
(2) संकलन

(ख) निम्नलिखित शब्दों में मूल शब्दों व प्रत्यय को अलग-अलग करके लिखिए-  
(1) ग्रंथकार
(2) आर्थिक

5. (क) निम्नलिखित शब्द का संधि कीजिए-                                                                 (6)
(1) दुः + गम

(ख) निम्नलिखित शब्द का संधि कीजिए-
(1) संसार

(ग) निम्नलिखित वाक्यों में उचित विरामचिह्न लगाइए-
(1) शाबाश तुम कक्षा में प्रथम आए
(2) मैं तुम और रोहन बाजार जा रहे हैं
(3) उसने हँसत हँसते मुझे सब बता दिया

खण्ड - 'ग' (पाठ्य-पुस्तक)

6. पठित पाठों के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिए-                                 (1+2+2=5)
(क) वाद्ययंत्रों पर की गई खोजों से रामन् ने कौन-सी भ्रांति तोड़ने की कोशिश की?
(ख) कौन-से लोग धार्मिक लोगों से ज्यादा अच्छे हैं? 'धर्म की आड़' पाठ के आधार पर लिखिए।
(ग) महादेव भाई की अकाल मृत्यु का कारण क्या था?

7. महादेव जी की लिखावट की क्या विशेषताएँ थीं? उनके लिखे नोट के विषय में गांधीजी क्या कहते थे? 'शुक्रतारे के समान' पाठ के आधार पर लिखिए।                                                            (5)

8. निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों का उत्तर लिखिए-                            (2+2+1=5)

देश के सभी शहरों का यही हाल है। उबल पड़ने वाले साधारण आदमी का इसमें केवल इतना ही दोष है कि वह कुछ भी नहीं समझता-बुझता, और दूसरे लोग उसे जिधर जोत देते हैं, उधर जुत जाता है। यथार्थ दोष है, कुछ चलते-पुरज़े, पढ़े लिखे लोगों का, जो मूर्ख लोगों की शक्तियों का और उत्साह का दुरूपयोग इसलिए कर रहे हैं कि इस प्रकार, जाहिलों के आधार पर उनका नेतृत्व और बड़प्पन कायम रहे। इसके लिए धर्म और ईमान की बुराइयों से काम लेना उन्हें सबसे सुगम मालुम पड़ता है। सुगम है भी।

(क) चलते-पुरज़े लोग किनकी शक्तियों का दुरूपयोग किस कार्य लिए कर रहे हैं?
(ख) साधारण आदमी का क्या दोष है?
(ग) स्वार्थ सिद्ध करने के लिए कौन सा रास्ता सबसे सुगम है?

9. पठित कविताओं के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिए-                           (1+2+2=5)
(क) सुखिया के पिता पर कौन-सा आरोप लगाकर उसे दंडित किया गया?
(ख) 'एक पत्र-छाँह भी माँग मत' पंक्ति का आशय स्पष्ट कीजिए।
(ग) कवि एक घर पीछे या दो घर आगे क्यों चल देता है? 'नए इलाके में' में कविता के आधार पर लिखिए।

10. 'गीत-अगीत' का केंद्रीय भाव अपने शब्दों में लिखिए।                                                (5)

11. लेखक अस्पताल से घर लौटने के बाद अपने द्वारा बनाये गए पुस्तकालय में क्यों रहना चाहते थे?    (5)

खण्ड - 'घ' (लेखन)

12. संकेत बिन्दुओं के आधार पर किसी एक विषय पर लगभग 80 से 100 शब्दों में अनुच्छेद लिखिए-   (5)

(क) बेरोजगारी
• एक समस्या
• कारण
• समाधान

(ख) इंटरनेट क्रान्ति
• महत्वपूर्ण आविष्कार
• उपयोगिता
• दुरूपयोग

(ग) मन के हारे हार, मन के जीते जीत
• अर्थ
• आवश्यकता
• व्यक्ति पर प्रभाव

13. किताबों के महत्व को बताते हुए अपने छोटे भाई को पत्र लिखिए।                                                     (5)

14. दिए गए चित्र को ध्यान में रखकर अपने मन के विचारों को 20-30 शब्दों में लिखिए। आपके विचार चित्र से संबंधित होने चाहिए।                                                                                                                           (5)


15. परीक्षा को लेकर दो दोस्त रमन और नयन में संवाद। (लगभग 50 शब्दों में)                                      (5)

16. एक पेन के लिए विज्ञापन तैयार कीजिए।                                                                                        (5)

इस Sample Paper का उत्तर पत्र यहाँ देखें

इस Sample Paper को Download करें।

Watch More Sports Videos on Power Sportz
Liked NCERT Solutions and Notes, Share this with your friends::
Facebook Comments
0 Comments
© 2017 Study Rankers is a registered trademark.